Pm Swamitva Yojana , प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना क्या , पात्रता ,आवेदन प्रक्रिया, ऑनलाइन पंजीकरण , स्वामित्व कार्ड की जानकारी ।

 

pm swamitv yojna

स्वामित्व योजना क्या है ?

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा शुरू की गई पीएम स्वामित्व योजना के अंतर्गत इस योजना को ग्राम स्वराज के ऑनलाइन पोर्टल से जोड़ा जाएगा जिसके परिणाम स्वरूप भूमि माफिया, फर्जीवाड़ा, भूमि की लूट इत्यादि जैसी समस्याएं दूर हो जाएंगे और ग्रामीण लोग उनकी संपत्ति का पूरा ब्यौरा ऑनलाइन उपलब्ध हो सकेगा । प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा शुरू की गई इस योजना के तहत गांव की संपूर्ण सर्वेक्षण का प्रावधान ड्रोन कैमरे की सहायता से किया गया है साथ ही मैपिंग के बाद गांव में उस संपत्ति पर जिस ग्रामीण का मौलिक अधिकार है उसे उसके नाम से पूरी तरह रजिस्टर्ड कर दिया जाएगा साथ ही यह रजिस्ट्रेशन होने के बाद उस ग्रामीण को प्रधानमंत्री स्वामित्व कार्ड  भी दिया जाएगा जो यह प्रमाणित करेगा कि इस प्रॉपर्टी पर इस व्यक्ति का अधिकार है । इसकी जरूरत सबसे ज्यादा ग्रामीणों को है क्योंकि ग्रामीणों में अब तक बहुत सारे ऐसे व्यक्ति हैं जिनके पास अपनी प्रॉपर्टी या जमीन का कोई भी डॉक्यूमेंट मौजूद नहीं है जो यह सत्यापित कर सके की जमीन उनका ही है ।

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के तहत गांव में ग्राम पंचायतों के विकास के लिए ही ग्राम स्वराज पोर्टल का प्रयोग किया जाएगा साथ ही गांव की प्रत्येक प्रॉपर्टी को उनके मालिक के साथ मैप कर दी जाएगी जिससे फर्जीवाड़ा घूसखोरी और भूमि माफिया का काम खत्म हो जाएगा ।

PM SWAMITVA YOJANA NEW UPDATE

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने रविवार को प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के तहत प्रॉपर्टी कार्ड वितरित करने की शुरुआत कर दी है इस योजना को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए लॉन्च कर दिया गया । प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के तहत इस बार 100000 ग्रामीणों को उनके प्रॉपर्टी का हक देना सुनिश्चित किया गया है । अभी इस योजना को प्रारंभिक तौर पर शुरू किया गया है बाद में इस योजना को पुरे भारतवर्ष में लागु कर दिया जायेगा |

जैसा आप सभी जानते हैं ग्रामीण क्षेत्र में ऐसे बहुत सारे व्यक्ति हैं जिनके पास प्रॉपर्टी तो है लेकिन प्रॉपर्टी पर हक साबित करने के लिए उनके पास कोई डॉक्यूमेंट नहीं है। इस योजना से ग्रामीण इलाके के लोगों को किसी भी तरह के ऋण या वित्तीय लाभ लेने के लिए वित्तीय संपत्ति के तौर पर अपनी प्रॉपर्टी या संपत्ति का उपयोग करने का अधिकार दिया जाएगा ।

पीएमओ ने कहा कि प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के लॉन्च के दौरान एक लाख प्रॉपर्टी धारकों के मोबाइल पर लिंक भेजा जाएगा इसकी मदद से वे अपने प्रॉपर्टी कार्ड यानी प्रधानमंत्री स्वामित्व कार्ड को डाउनलोड कर पाएंगे । इसके बाद राज्य सरकारों के द्वारा इन लाभार्थियों को प्रधानमंत्री स्वामित्व कार्ड यानी प्रॉपर्टी कार्ड बांटे जाएंगे ।

अभी प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के तहत 6 राज्यों के 763 गांव के लाभार्थियों को प्रधानमंत्री स्वामित्व कार्ड यानी प्रॉपर्टी कार्ड जारी किया जाएगा ।

 

इन 6 राज्यों में उत्तर प्रदेश के 346, हरियाणा के 221 , महाराष्ट्र के 100 , मध्य प्रदेश के 44 तथा उत्तराखंड के 50 और कर्नाटक के 2 गांव शामिल हैं 

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कर लाभार्थियों से बात भी की गई साथ ही स्वामित्व योजना पंचायती राज मंत्रालय की योजना है जिसे पंचायत स्तर पर काफी अहम भूमिका दी जा रही है । प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना को प्रधानमंत्री ने वर्ष 2020 से 24 के बीच चरणबद्ध तरीके से शुरू करने का निर्देश दिया है इसके दायरे में करीब 6.62 लाख गांवों को शामिल किया जाएगा ।

🔥🔥 PM SWAMITVA SCHEME HIGHLIGHTS 🔥🔥

🔥 योजना का नाम

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना

🔥 शुरू किया गया

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा

🔥 विभाग

पंचायती राज मंत्रालय भारत सरकार

🔥 उद्देश्य

प्रॉपर्टी के असली मालिकों को उनका हक दिलाना

🔥 घोषणा की गई

24 अप्रैल 2020 को

🔥 मुख्य लाभ

लोन लेने की सुविधा उपलब्ध कराना

 

PRADHANMANTRI SWAMITVA SCHEME के उद्देश्य

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा कोरोनावायरस संकट के बीच भी देश में फैली हजारों ग्राम पंचायतों को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के द्वारा संबोधित किया गया इस योजना की शुरुआत 24 अप्रैल 2020 यानी पंचायती राज दिवस के रूप में मनाए जाने वाले दिन को की गयी । प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के द्वारा किसानों तथा संबंधित ग्रामीणों को संबोधित किया गया और इस योजना के मुख्य उद्देश्य की जानकारी ग्रामीणों को दी गई । प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण किसानों की जमीन की ऑनलाइन देखरेख मुहैया कराना और जमीन की मैपिंग साथ ही उसके मालिक को उनका हक दिलाना है, इस कदम से ग्रामीणों को बहुत सारे फायदे होंगे भूमि माफियाओं का काम खत्म हो जाएगाफर्जीवाड़े और धोखाधड़ी या भूमि बेमानी या हड़प लेने जैसी समस्या भी खत्म हो जाएगी ।

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के लाभ

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना की शुरुआत करने का सबसे बड़ा उद्देश्य ग्रामीणों को उनके प्रॉपर्टी का पूरा हक दिलाना है | उन्होंने बताया कि जैसे शहर में मकान पर होम ,जमीन पर लोन लेने की सुविधा होती है और आसानी से लोन मिल भी जाता है इसी प्रकार अब गांव में पीएम स्वामित्व योजना से जमीन मालिक घर मालिक की पहचान आसानी से हो जाएगी और उन्हें भी लोन की सुविधा काफी आसानी से मिल पाएगी । पीएम मोदी ने बताया कि गांव में जमीन की मैपिंग ड्रोन कैमरे के द्वारा की जाएगी और फिलहाल देश के लगभग 6 राज्य में इसकी शुरुआत हो चुकी है, यहां तक की केंद्र सरकार ने बताया कि 2024 तक इसको देश के हर एक गांव तक पहुंचा दिया जाएगा । इसके अलावा भी पीएम स्वामित्व योजना के कई लाभ हैं जो निम्नलिखित हैं :-

  • संपत्ति नामांकन के प्रोसेस को प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के अंतर्गत सरल बना दिया जाएगा ।
  • ️ पीएम स्वामित्व योजना  के तहत ड्रोन के द्वारा गांव, खेत ,भूमि की मैपिंग की जाएगी ।
  • भूमि की सत्यापन प्रक्रिया में तेजी साथ ही भूमि माफियाओं, भूमि भ्रष्टाचार के मामले को रोकने में भी सहायता मिलेगा ।
  • ग्राम पंचायतों के अंतर्गत आने वाले किसानों को लोन की भी सुविधा उपलब्ध हो पाएगी ।
  • जमीन के असली मालिक को उनकी प्रॉपर्टी पर सही अधिकार मिल पाएगा साथ ही उन्हें पीएम स्वामित्व कार्ड भी दिया जाएगा ।
  • इस कार्ड के एवज में लोग आसानी से बैंक से लोन प्राप्त कर पाएंगे ।
  • किसी भी जमीन या प्रॉपर्टी पर किस व्यक्ति का मालिकाना हक है इसकी जानकारी प्राप्त करना काफी सरल हो जाएगा ।

पीएम स्वामित्व योजना आवेदन कैसे करें ?

अगर आप पीएम स्वामित्व योजना के तहत आवेदन करने की सोच रहे हैं तो आपको ध्यान देना होगा । इस योजना के तहत आवेदन की प्रक्रिया अभी तक लांच नहीं की गई है भले ही इस योजना के तहत सर्वे का काम स्टार्ट हो चुका है ।

सर्वे होने के बाद ही मिलेगा भूमि स्वामित्व प्रमाण पत्र

केंद्र सरकार के द्वारा चयनित राज्य के चयनित गांव का ड्रोन से सर्वेक्षण तथा ग्राम पंचायतों में जाकर सर्वेक्षण किया जाना सुनिश्चित किया गया है । यानी आप की प्रॉपर्टी की जानकारी पहले अधिकारी एकत्रित करेंगे और फिर यह सुनिश्चित करेंगे कि उस प्रॉपर्टी पर आपका मालिकाना हक है , सभी जानकारी सुनिश्चित हो जाने के बाद और सभी जानकारी एकत्रित हो जाने के बाद आपका प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना रजिस्ट्रेशन कर दिया जाएगा और परिणाम स्वरूप आपको प्रधानमंत्री स्वामित्व कार्ड या प्रॉपर्टी कार्ड जारी कर दी जाएगी ।

Post a comment

0 Comments